खेल
आईपीएस ने की पर्चा लीक मामलों की जांच एसटीएफ से कराने की मांग
लखनऊ।
 
 आबकारी सिपाही तथा समीक्षा अधिकारी पेपर लीक मामलों में एफआईआर दर्ज कराने वाले आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर ने इन दोनों प्रकरणों की विवेचना एसटीएफ से कराये जाने की मांग की है। डीजीपी एस. जावीद अहमद को भेजे अपने पत्र में उन्होंने कहा कि स्थानीय पुलिस के पास इस तरह की विवेचना के लिए न तो तकनीकी ज्ञान या विशेषज्ञता होती है, न ही समय और संसाधन। इसके विपरीत एसटीएफ इस प्रकार के मामलों की विवेचना में सिद्धहस्त है, जैसा दो दिन पहले हाई कोर्ट समीक्षा अधिकारी पेपर लीक परीक्षा में पेपर लीक के भांडाफोर से स्पष्ट होता है। 
 
इसलिए उन्होंने कहा है कि इन दोनों मामलों की विवेचना भी एसटीएफ को दी जाए। अमिताभ की शिकायत पर ही सीजेएम लखनऊ संध्या श्रीवास्तव के आदेशों के क्रम में 25 सितम्बर 2016 को उ.प्र. अधीनस्थ सेवा चयन आयोग द्वारा कराई गयी आबकारी सिपाही परीक्षा के दूसरे सत्र के पेपर लीक का मुक़दमा थाना विभूतिखंड में दर्ज कराया गया है। इसी तरह 27 नवम्बर 2016 को उत्तर प्रदेश संघ लोक सेवा आयोग द्वारा कराई गयी समीक्षा अधिकारी की प्रारम्भिक परीक्षा की द्वितीय पाली के पेपर लीक की एफआईआर थाना हजरतगंज में दर्ज की गयी है। 
  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • captcha
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें,हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।