Home खास ख़बर अमित शाह ने राज्यसभा में कांग्रेस पर साधा जमकर निशाना

अमित शाह ने राज्यसभा में कांग्रेस पर साधा जमकर निशाना

नयी दिल्ली। भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष एवं नव निर्वाचित राज्‍यसभा सदस्‍य अमित शाह ने राज्‍यसभा में पहली बार अपना भाषण दिया। उन्‍होंने अपने भाषण में जहां मोदी सरकार की उपलब्धियों को गिनाया तो दूसरी ओर कांग्रेस पर भी जमकर निशाना साधा।
उन्‍होंने गब्बर सिंह टैक्स से लेकर तीन तलाक विधेयक के ‘विरोध’ को लेकर कांग्रेस पर तीखा प्रहार करते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने वंशवाद, जातिवाद एवं तुष्टिकरण नासूर को प्रश्रय नहीं देने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नीत केन्द्र सरकार की एक बड़ी उपलब्धि बताया और दावा किया कि जीएसटी से छोटे और मझोले व्यापारी मजबूत होंगे।
जानकारी के अनुसार अमित शाह ने राज्यसभा में राष्ट्रपति अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव को पेश करते हुए यह बात कही। उन्होंने उच्च सदन में अपने पहले भाषण में उन तमाम योजनाओं और पहलों को विशेष तौर पर उल्लेख किया जिनके बारे में पिछले 70 साल में कुछ नहीं किया गया या बहुत कम प्रयास किये गये।
भाजपा अध्यक्ष ने एक कुशल राजनीतिक वक्ता के रूप में जहां विपक्ष और कांग्रेस नीत पुरानी सरकारों पर तीखे कटाक्ष और प्रहार किये वहीं अंत्योदय योजना, जनधन योजना, उज्ज्वला योजना, प्रत्यक्ष लाभ अंतरण, स्वच्छता एवं शौचालय निर्माण, ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली पहुंचाने, सौभाग्य योजना, बीमा योजना सहित मोदी सरकार की तमाम योजनाओं की फेरिस्त गिनाते हुए उनकी आलोचनाओं का सटीक जवाब दिया।  वहीं शाह ने विपक्ष द्वारा प्रधानमंत्री मोदी के पकौड़े बेचने वाले का मजाक उड़ाने की तीखी आलोचना करते हुये कहा कि पकौड़े बनाना शर्म की बात नहीं, उनकी तुलना भिखारी से करना शर्म की बात है।
जीएसटी को ‘गब्बर सिंह टैक्स’ बताये जाने की तीखी आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि देश में सभी राज्यों की सहमति से लगाये गये इस कर को डकैती कहना कहां तक सही है? उन्होंने कहा कि इसके माध्यम से आने वाला धन शहीदों की विधवाओं को पेंशन, सैनिकों के वेतन और उज्ज्वला योजना सहित विभिन्न जनहित योजना में लगाया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि जीएसटी से न केवल देश की अर्थव्यवस्था बेहतर होगी बल्कि छोटे एवं मझौले कारोबारी भी मजबूत होंगे। जनधन बैंक खातों की योजना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि देश की आजादी के 70 साल तक तक 60 प्रतिशत आबादी बैंक खातों से वंचित थी।

Load More Related Articles
Load More By आजसमाज ब्यूरो
Load More In खास ख़बर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

ज़ायरा ने कहा, इन्सिया का रोल निभाना मेरे लिए बड़ी चुनौती

मुंबई। असाधारण उपलब्धि के लिए राष्ट्रीय बाल पुरस्कार जीतने वाली ज़ायरा वसीम एक 17 वर्षीय एक…