Home खास ख़बर किसानों के चक्काजाम से सीकर में जनजीवन अस्तव्यस्त

किसानों के चक्काजाम से सीकर में जनजीवन अस्तव्यस्त

सीकर। कर्जमाफी की मांग को लेकर किसानों के सोमवार से जारी चक्का जाम प्रदर्शन बुधवार को भी जारी रहने के कारण जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हो रहा है।

अखिल भारतीय किसान सभा की ओर से आमजन के साथ की बजाय आमजन को ही हथियार बना कर राजस्थान सरकार पर दबाब बनाया जा रहा है। सभी रास्ते बंद कर बनाए जा रहे दबाब के कारण सीकर जिला पूरी तरह राजशाही के दौर से गुजर रहा है जब लगान व कर वसूली के लिए जनता को निचोड़ा जाता था। बुधवार को प्रदर्शन के तेरहवें दिन सीकर शहर में अघोषित कर्फ्यू की सी स्थिति बनी हुई है। बच्चों के दूध तक के लिए शहरवासियों को भटकना पड़ रहा है। सभी शिक्षण संस्थान बंद हैं| सरकारी कामकाज भी पूरी तरह ठप है। जिले वासियों को चिकित्सा व सामाजिक कार्यक्रमों के लिए भी चक्का जाम किए बैठे प्रदर्शन कारियों के समक्ष गिड़गिड़ाना पड़ रहा है। आम जन इस बात से आहत है कि कैदखाने की सी स्थिति के लिए कोई जवाबदेह अपनी क्रियाशीलता नहीं दिखा रहा। राजस्थान सरकार अथवा किसान संगठन द्वारा एक-दूसरे पर बनाए जा रहे दबाव का सीधा असर जनजीवन पर पड़ रहा है।

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के अग्रिम संगठन अखिल भारतीय किसान सभा की ओर से किसानों की कर्ज माफी सहित अन्य मांगों को लेकर सोमवार से राज्यव्यापी चक्का जाम का आह्वान किया गया है। स्थानीय कृषि उपज मण्डी के सामने डेरा डाले बैठे प्रदर्शनकारी पुरूष व महिलाएं बीच सड़क पर डेरा डाले हैं। किसान सभा के आह्वान पर जिले में करीब अस्सी स्थानों पर जाम होने से हजारों वाहन दो दिन से सड़क किनारे खड़े हैं और जिला मुख्यालय को आने वाले सभी रास्ते बंद हैं। एक सितम्बर से प्रदर्शन कर रहे किसानों की मांगों पर राजस्थान सरकार की ढिलाई एवं सुरक्षित जनजीवन के लिए जवाबदेह जिला प्रशासन की समर्पण की स्थिति ने सभी को झकझोर दिया है। मंगलवार शाम पांच बजे से मंत्रीमण्डलीय समिति एवं किसान सभा के प्रतिनिधि मण्डल के बीच वार्ता विफल होने की सूचना के बाद से आमजन में हताशा है। बुधवार दोपहर को होने वाली वार्ता पर लोगों की आस टिकी है।

Load More Related Articles
Load More By आजसमाज ब्यूरो
Load More In खास ख़बर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

सेबी ने 14 और इकाइयों से प्रतिबंध हटाया

नयी दिल्ली। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने 14 इकाइयों से प्रतिभूति बाजार में …