Home दुनिया समलैंगिकों के अधिकारों के लिए लड़ने वाली एडिथ विंडसर का निधन

समलैंगिकों के अधिकारों के लिए लड़ने वाली एडिथ विंडसर का निधन

न्यूयॉर्क। अमेरिका में समलैंगिक विवाह पर लगे प्रतिबंध खत्म कराने की मुहिम छेड़ने और समलैंगिक विवाह को संघीय मान्यता दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाली एडिथ विंडसर का निधन हो गया। वह 88 वर्ष की थीं। विंडसर की वकील रोबर्टा कपलान ने बताया कि उनकी मौत न्यूयॉर्क में हुयी। यह पता नहीं चल पाया है कि उनकी मौत किस कारण से हुई लेकिन वह कई वर्षों से हृदय संबंधी बीमारियों से जूझ रही थीं।

2009 में उन्हें ‘स्ट्रेस कार्डियोमायोपैथी’ का दौरा पड़ा था। विंडसर के वर्तमान पति, जूडिथ कासेन-विंडसर ने बताया, ‘‘दुनिया ने स्वतंत्रता, न्याय और समानता की लड़ाई लड़ने वाली एक लड़ाकू महिला को खो दिया।’’ विंडसर की पहली पार्टनर थीया स्पीयर का 2009 में निधन हो गया था। दोनों महिलाओं ने 40 साल से अधिक समय तक एक साथ रहने के बाद कनाडा में 2007 में कानूनी तौर पर विवाह किया था। विंडसर ने स्पीयर की मृत्यु के बाद संघीय सरकार पर मुकदमा दायर कर दिया। उन्होंने कहा कि विवाह को पुरुष और महिला के बीच संबंध के तौर पर परिभाषित करने के कारण उसे स्पायर की संपत्ति से बेदखल कर दिया गया। उसे भारी करों का भुगतान करना पड़ा जो कि सामान्य दंपत्ति को नहीं लगाये जाते हैं।
अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट ने जून 2013 में 5-4 के मत से फैसला सुनाया कि कानून का यह प्रावधान असंवैधानिक था और कानूनी तौर पर विवाहित समलैंगिक जोड़े भी सामान्य जोड़ों की ही तरह समान संघीय अधिकारों एवं लाभ के हकदार हैं। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से संघीय सरकार का विवाह प्रतिबंध रद्द हो गया और 2015 में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के आधार पर समलैंगिकों को भी शादी करने का अधिकार मिल गया।
Load More Related Articles
Load More By आजसमाज ब्यूरो
Load More In दुनिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

सेबी ने 14 और इकाइयों से प्रतिबंध हटाया

नयी दिल्ली। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने 14 इकाइयों से प्रतिभूति बाजार में …