Home दुनिया अंतरिक्ष प्रयोगशाला से जुड़ा चीन का कार्गो अंतरिक्षयान

अंतरिक्ष प्रयोगशाला से जुड़ा चीन का कार्गो अंतरिक्षयान

बीजिंग। चीन के पहले कार्गो अंतरिक्षयान तिआनझोऊ-1 ने कक्षा में स्थापित अंतरिक्ष प्रयोगशाला तिआनगोंग-2 के साथ स्वचालित त्वरित डॉकिंग की प्रक्रिया पूरी कर ली है। पृथ्वी से नियंत्रित अंतरिक्षयान तिआनझोऊ-1 ने मंगलवार शाम 5:24 बजे तिआनगोंग-2 की ओर बढ़ना प्रारंभ किया और अंतरिक्ष प्रयोगशाला में त्वरित गति से डॉकिंग में इसने साढ़े छह घंटे का वक्त लिया।

त्वरित गति से डॉकिंग तकनीक के जरिए दो अंतरिक्षयानों के बीच जुड़ने की यह तीसरी घटना है। इससे पहले डॉकिंग में करीब दो दिन का वक्त लगा था। चीनी वैज्ञानिक अपने स्थाई अंतरिक्ष स्टेशन के लिए डॉकिंग तकनीक में निपुणता हासिल करने के लिए अंतरिक्ष प्रयोगशाला का इस्तेमाल कर रहे हैं। यह अभी प्रायोगिक चरण में है। इस स्थाई अंतरिक्ष स्टेशन के 2022 तक तैयार हो जाने की उम्मीद है।
तिआनझोऊ-1 को चीन के हैनान प्रांत से 20 अप्रैल को प्रक्षेपित किया गया था और इसने कक्षा में स्थापित प्रयोगशाला तिआनगोंग-2 के साथ पहली डॉकिंग 22 अप्रैल को और दूसरी डॉकिंग 19 जून को की थी। यह अंतरिक्षयान पृथ्वी पर लौटने से पहले अंतरिक्ष वेधशाला में तीसरी बार में ईंधन भरने का काम करेगा। गौरतलब है कि रूस और अमेरिका के बाद चीन तीसरा ऐसा देश है जिसने अंतरिक्ष में ईंधन भरने की तकनीकों में निपुणता हासिल की है जो कि स्थाई अंतरिक्ष प्रयोगशाला के निर्माण के लिए महत्वपूर्ण है।
Load More Related Articles
Load More By आजसमाज ब्यूरो
Load More In दुनिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

सेबी ने 14 और इकाइयों से प्रतिबंध हटाया

नयी दिल्ली। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने 14 इकाइयों से प्रतिभूति बाजार में …