Home राज्य उत्तर प्रदेश सपा को एक और झटका, एमएलसी डॉ. सरोजनी अग्रवाल भाजपा में शामिल

सपा को एक और झटका, एमएलसी डॉ. सरोजनी अग्रवाल भाजपा में शामिल

0 second read
0
0
1,094

लखनऊ। विधानसभा चुनाव में सत्ता गंवाने के बाद समाजवादी पार्टी (सपा) के लिए अब अपने ‘माननीयों’ को पार्टी में रोक पाना भी मुश्किल साबित हो रहा है। एक-एक करके नेता पार्टी से अलविदा बोल रहे हैं। ताजा घटनाक्रम में पार्टी की वरिष्ठ नेता और विधान परिषद सदस्य डॉ. सरोजनी अग्रवाल ने शुक्रवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। इसके साथ ही वह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गयी हैं।

मेरठ की निवासी और पेशे से डॉक्टर सरोजनी अग्रवाल ने आज अपना इस्तीफा विधान परिषद के सभापति रमेश यादव को सौंप दिया। उन्होंने सपा छोड़ने पर मीडिया से पार्टी में नेता जी मुलायम सिंह यादव की उपेक्षा को अहम वजह बताया। उन्होंने कहा कि नेता जी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटने के बाद पार्टी में मन नहीं लगता। पार्टी कमजोर हो रही है। सपा में सियासी विचार कमजोर हुआ है। सरोजनी अग्रवाल का विधान परिषद का कार्यकाल 2021 में पूरा हो रहा था और उन्होंने चार साल पहले ही पद से इस्तीफा दे दिया।

इस मौके पर प्रदेश सरकार की कैबिनेट मंत्री डॉ. रीता बहुगुणा जोशी और राज्य मंत्री महेंद्र सिंह भी मौजूद रहे। समाजवादी पार्टी के लिए मौजूदा समय सियासी लिहाज से बेहद मुश्किल साबित हो रहा है। इससे पहले उसके दो विधान परिषद सदस्य यशवन्त सिंह और बुक्कल नवाब भी पार्टी और विधान परिषद सदस्यता से इस्तीफा दे चुके हैं। यशवंत सिंह और बुक्कल नवाब 07 जुलाई 2016 को उत्तर प्रदेश विधान परिषद के सदस्य निर्वाचित हुए थे। इन दोनों विधान परिषद सदस्यों ने बीती 29 जुलाई को विधान परिषद की सदस्यता से त्याग पत्र दे दिया था।

इस तरह उच्च सदन में सपा के तीन सदस्य कम हो गए हैं और इसका सीधा फायदा सत्तारूढ़ दल भाजपा को मिलेगा। अगर हाल ही में बसपा छोड़ने वाले एक और अन्य विधान परिषद सदस्य ठाकुर जयवीर सिंह को भी इसमें शामिल कर लिया जाए तो भाजपा अब अपने चार नेताओं को बेहद आसानी से विधान परिषद में भेज सकेगी। ठाकुर जयवीर सिंह 06 मई 2012 को उत्तर प्रदेश विधान परिषद के सदस्य निर्वाचित हुए थे। इन्होंने भी विधान परिषद की सदस्यता से बीती 29 जुलाई को त्यागपत्र दे दिया था। प्रदेश सरकार में अभी तक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, दोनों उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या व डॉ. दिनेश शर्मा, परिवहन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वतंत्र देव सिंह और राज्यमंत्री मोहसिन रजा किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं।

Load More Related Articles
Load More By आजसमाज ब्यूरो
Load More In उत्तर प्रदेश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

महिला कांग्रेस में भी होंगी 5 कार्यकारी अध्यक्ष, हाईकमान ने जारी किया आदेश

भोपाल । विधानसभा चुनावों को देखते हुए कांग्रेस अपने संगठनात्मक ढांचे को चुस्त-दुरुस्त करने…