Home खास ख़बर संबल योजना कमजोर वर्गों को समाज की मुख्य धारा से जोड़ेगी : मुख्यमंत्री

संबल योजना कमजोर वर्गों को समाज की मुख्य धारा से जोड़ेगी : मुख्यमंत्री

4 second read
0
0
1,204

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि संबल योजना समाज के गरीब और कमजोर वर्गों को मुख्य धारा से जोड़ेगी। इस योजना से इन वर्गों के जीवन में खुशहाली आयेगी। उन्होंने बताया कि आगामी 13 जून को प्रदेश के सभी जनपद मुख्यालयों पर संबल योजना में पंजीकृत हितग्राहियों को राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के हित-लाभ वितरित किये जायेगे। श्री चौहान मंडला जिले के ग्राम अंजनिया में तेन्दूपत्ता संग्राहक और असंगठित श्रमिक सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने संबल योजना की विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि अगले चार साल में प्रदेश के प्रत्येक गरीब व्यक्ति के पास खुद का घर होगा। राज्य सरकार इन चार वर्षों में लगातार हर वर्ष 10-10 हजार पक्के मकान बनाकर आवासहीन गरीब और कमजोर वर्गों को सुलभ करवाएगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सम्मेलन में राज्य स्तरीय आयरन और आयोडीनयुक्त वन्या प्लस डबल फोर्टीफाईड नमक वितरण योजना का ऑनलाइन शुभारंभ किया और योजना की प्रचार सामग्री का विमोचन किया। श्री चौहान ने बताया कि इस योजना से प्रदेश के 20 जिलों के 89 आदिवासी बाहुल्य विकासखंड के हितग्राही लाभान्वित होंगे।

मुख्यमंत्री ने महिला तेन्दूपत्ता संग्राहकों को पहनाई चरण-पादुकाएँ

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सम्मेलन में महिला तेन्दूपत्ता संग्राहक सेवंती बाई, गलियारी बाई, सत्यवती बाई और लमिया बाई को अपने हाथों से चरण-पादुका पहनाई, साड़ी और पानी की कुप्पी भेंट की। इस अवसर पर मंडला और डिण्डोरी जिले के तेन्दूपत्ता संग्राहकों को कुल 25 करोड़ रुपये की बोनस राशि भी वितरित की गई। मुख्यमंत्री ने असंगठित श्रमिक सुदर्शन, श्री राम और लमिया बाई को संबल योजना के स्मार्ट कार्ड भी प्रदान किये।

ग्राम अंजनिया और मवई में खुलेंगे शासकीय महाविद्यालय

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सम्मेलन में घोषणा की कि ग्राम अंजनिया और मवई में शासकीय महाविद्यालय खोले जायेंगे। इस मौके पर उन्होंने मंडला और डिण्डोरी जिले में कुल लगभग 48 करोड़ रूपये लागत के निर्माण कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया।

श्री चौहान ने जे.ई.ई परीक्षा में सफल हुए मंडला एवं डिण्डोरी जिले के विद्यार्थियों को शुभकामनाएँ दीं और उनके साथ फोटो निकलवाई। श्री चौहान ने इस मौके पर हितग्राहियों को विभिन्न योजनाओं के अन्तर्गत हित-लाभ में वितरित किये।

सम्मेलन में खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री ओमप्रकाश धुर्वे, सासंद श्री फग्गन सिह कुलस्ते और श्रीमती सम्पतिया उईके, आदिवासी वित्त एवं विकास निगम के अध्यक्ष डॉ. शिवराज शाह, म.प्र.लघु वनोपज संघ के अध्यक्ष श्री महेश कोरी, स्थानीय विधायक, अन्य जन-प्रतिनिधि और बड़ी संख्या में असंगठित क्षेत्रों के श्रमिक, तेन्दूपत्ता संग्राहक तथा ग्रामीणजन उपस्थित थे।

Load More Related Articles
Load More By आजसमाज ब्यूरो
Load More In खास ख़बर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

महिला कांग्रेस में भी होंगी 5 कार्यकारी अध्यक्ष, हाईकमान ने जारी किया आदेश

भोपाल । विधानसभा चुनावों को देखते हुए कांग्रेस अपने संगठनात्मक ढांचे को चुस्त-दुरुस्त करने…