Home देश मीट की कमी से AMU का मेन्यू प्रभावित, ओवैसी ने साधा बीजेपी पर निशाना

मीट की कमी से AMU का मेन्यू प्रभावित, ओवैसी ने साधा बीजेपी पर निशाना

0 second read
0
0
550

आगरा
उत्तर प्रदेश में अवैध बूचड़खाने बंद किए जाने के बाद से राज्य में मीट की कमी को लेकर हो रहा बवाल थम नहीं रहा है। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्रों ने मेस मेन्यू से मीट हटाए जाने के बाद यूनिवर्सिटी के वीसी को पत्र लिखकर हस्तक्षेप की गुहार लगाई है। इस मुद्दे ने अब राजनीतिक रंग ले लिया है। एआईएमआईएम प्रमुख और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने इस मुद्दे पर ट्वीट कर अपनी नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने बीजेपी पर राजनीतिक षड्यंत्र का आरोप भी लगाया।

ओवैसी ने ट्वीट कर कहा, ‘अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में 15000 छात्रों को मेस में 26 मार्च से मीट नहीं दिया गया है। इसके बाद भी बीजेपी कह रही है है कि हम किसी को निशाना नहीं बना रहे?’ हॉस्टल मेस में पहले हर दिन खाने में मीट सर्व किया जाता था। युनिवर्सिटी प्रेजिडेंट फैजुल हसन ने कहा, ‘हमें सब्जियां खाने के लिए मजबूर किया जा रहा है। इसे किसी आधार पर स्वीकार नहीं किया जा सकता।’

वहीं यूनिवर्सिटी प्रशासन ने अपने हाथ खड़े कर दिए हैं। वीसी जमीरुद्दीन शाह ने कहा, ‘500 किलो भैंस के मीट का प्रतिदिन इंतजाम करना हमारे लिए संभव नहीं है। यूनिवर्सिटी में 19 डाइनिंग हॉल हैं। इस वक्त अलीगढ़ में कोई बूचड़खाना खुला नहीं है इसलिए मीट का इंतजाम नहीं हो सकता।’

 स्थिति और भी खराब इसलिए हो गई है क्योंकि मीट विक्रेता अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। इस वजह से हॉस्टल मेस में सिर्फ शाकाहारी खाना ही दिया जा रहा है। यूनिवर्सिटी के मीडिया सलाहकार डॉक्टर जसीम मोहम्मद का कहना है, ‘गुरुवार को इस समस्या से निपटने के लिए एक मीटिंग बुलाई गई है। इसमें स्टूडेंट वेलफेयर के डीन भी शामिल होंगें। यूनिवर्सिटी में 19 डाइनिंग हॉल हैं। हर हॉल कम से कम 5 से 7 हॉस्टलों के लिए खाने का इंतजाम करता है। ऐसे में 25-30 किलो भैंस के मीट का इंतजाम करना होता है शुक्रवार को छोड़कर।’ डॉक्टर मोहम्मद ने यह भी बताया कि शुक्रवार को मेस में चिकन दिया जाता है। शुक्रवार को इसके लिए 600 किलो पोलट्री से चिकन की व्यवस्था की जाती है।
Load More Related Articles
Load More By आजसमाज ब्यूरो
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

बीजेपी