Home टॉप न्यूज़ महाशिवरात्रि पर्व, आज से शिवालयों में श्रद्धालुओं की भीड़

महाशिवरात्रि पर्व, आज से शिवालयों में श्रद्धालुओं की भीड़

उज्‍जैन। महाशिवरात्रि पर्व इस बार दो दिन 13 व 14 फरवरी को होगा। दो दिनों में व्रत किस दिन किया जाए इसे लेकर श्रद्धालु असमंजस में हैं, हालांकि महाकाल की नगरी उज्‍जैन में महाशिवरात्रि पर्व मंगलवार से शुरू हो गया है। यहां हजारों की संख्‍या में श्रद्धालु भेलेनाथ के दर्शन के लिए लाइनों में लगे हैं। यहां पर देर रात से कड़ी सुरक्षा के बीच देश-विदेश से आए लोग भस्‍मारती में शामिल हुए।
पंडित एवंज्योतिषियों के अनुसार 13 फरवरी को प्रदोष के साथ मध्य रात्रि में चतुर्दशी भी है। ऐसे में 13 फरवरी को व्रत रखना अधिक फलदायक होगा।
फाल्गुन के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाता है। पंडितों का कहना है कि इस बार 13 फरवरी मंगलवार को रात 10:22 बजे के बाद चतुर्दशी तिथि लग जाएगी जो अगले दिन 14 फरवरी की रात 12:17 बजे तक रहेगी।
इस वर्ष महाशिवरात्रि का व्रत पर्व 13 एवं 14 दोनों दिन किया जा सकता है, क्योंकि दोनों के धर्मशास्त्रीय प्रमाण मिल जाएंगे। 13 फरवरी को महाशिवरात्रि का व्रत रखने वालों को 14 की सुबह पारण करना होगा और 14 को व्रत रखने वाले को 14 तारीख की शाम को ही चतुर्दशी तिथि में पारण करना होगा।

पूजा की विधि

मनोकामना पूर्ति के लिए : शिवरात्रि पर 21 बिल्व पत्रों पर चंदन से ॐ नम: शिवाय लिखकर शिवलिंग पर चढ़ाएं, इससे भगवान भेलेनाथ प्रसन्‍न होंगे।

धन प्राप्ति के लिए : मछलियों को आटे की गोलियां खिलाएं। इस दौरान भगवान शिव का ध्यान करते रहें।

सुख समृद्धि के लिए : शिवरात्रि पर बैल को हरा चारा खिलाएं। इससे जीवन में सुख-समृद्धि आएगी और परेशानियों का अंत होगा।

विवाह के लिए : यदि विवाह में अड़चन आ रही है तो शिवरात्रि के दिन शिवलिंग पर केसर मिला कर दूध चढ़ाएं। इससे भगवान भेलेनाथ प्रसन्‍न होंगे।

Load More Related Articles
Load More By आजसमाज ब्यूरो
Load More In टॉप न्यूज़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

ज़ायरा ने कहा, इन्सिया का रोल निभाना मेरे लिए बड़ी चुनौती

मुंबई। असाधारण उपलब्धि के लिए राष्ट्रीय बाल पुरस्कार जीतने वाली ज़ायरा वसीम एक 17 वर्षीय एक…