Home खेल अन्य खेल अर्जुन पुरस्कार भारत की महिलाओं को समर्पित : ओइनाम बेमबेम

अर्जुन पुरस्कार भारत की महिलाओं को समर्पित : ओइनाम बेमबेम

0 second read
0
0
463

नयी दिल्ली। भारतीय महिला फुटबाल में दो दशक से भी अधिक समय तक अहम योगदान देने वाली ओइनाम बेमबेम देवी ने मंगलवार को अपना अर्जुन पुरस्कार देश की महिलाओं को समर्पित किया जो रूढ़िवाद को खत्म करने का प्रयास कर रही हैं। शिलांग में दक्षिण एशियाई खेलों के दौरान अंतरराष्ट्रीय फुटबाल को अलविदा कहने वाली 37 सल की बेमबेम देवी ने 85 मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए 32 गोल दागे। ‘डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू–द-एआईएफएफ–काम’ ने बेमबेम के हवाले से कहा, ‘‘मैं यह (अर्जुन पुरस्कार) देश की उन सभी महिलाओं को समर्पित करती हूं जो रोजाना सामाजिक अड़चनों से पार पाते हुए अपने क्षेत्रों में चमक बिखेरती हैं। यह पुरस्कार उन सभी का उतना ही है जितना मेरी मां, टीम के सभी साथियों और कोचों का है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘लगातार समर्थन के लिए एआईएफएफ का धन्यवाद देने की भी जरूरत है।’’ बेमबेम ने 1995 में अंतरराष्ट्रीय पदार्पण किया और महिला फुटबाल को लेकर भारत में जागरूकता फैलाने के लिए अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) के साथ मिलकर काम किया। यह पूछने पर कि इस अर्जुन पुरस्कार से देश में महिला फुटबाल को बढ़ावा देने में कितनी मदद मिलेगी, मणिपुर की इस फुटबालर ने कहा, ‘‘जैसा कि मैंने कहा, भारत में सामाजिक अड़चनें हैं जिसके कारण कभी कभी लड़कियों को फुटबाल खेलने से रोक दिया जाता है।’’ बेमबेम ने एक बार संन्यास लेने के बाद वापसी की थी और फिर फरवरी 2015 में शिलांग में सैफ खेलों का स्वर्ण पदक जीतने के बाद संन्यास लिया। उन्होंने कहा, ‘‘मेरे शुरूआती संन्यास के बाद, मैं गदगद हो गई जब एआईएफएफ ने मुझे फोन किया और संन्यास से वापसी करने को कहा। मुझे कहा गया कि आप बेहतर विदाई की हकदार हैं।’

Load More Related Articles
Load More By आजसमाज ब्यूरो
Load More In अन्य खेल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

महिला कांग्रेस में भी होंगी 5 कार्यकारी अध्यक्ष, हाईकमान ने जारी किया आदेश

भोपाल । विधानसभा चुनावों को देखते हुए कांग्रेस अपने संगठनात्मक ढांचे को चुस्त-दुरुस्त करने…